रविवार, 13 सितंबर 2020

शिव जी की स्तुति ( भजन)

 


शंकर भज लो जी, 

हाँ जी शंकर भज लो जी 

पूजन कर लो जी 

हाँ जी, शंकर भज लो जी 


शिवजी ही आराध्य हमारे

हम जीते हैं उनके सहारे 

पिनाक धारी, डमरूवाले 

शशांक शेखर, हैं रखवाले 

 सुमिरन कर लो जी 

(टेक :शंकर भज लो जी) 


भोले न चाहे चांदी सोना

उर में रखना भक्ति का कोना

दिल से जो एक बार पुकारें 

बाबा हरेंगे कष्ट हमारे 

आरती गा लो जी (टेक :शंकर भज लो जी) 


बेल पत्र से खुश हो जाएँ 

चलो धतूरा भांग चढ़ाएँ

प्रेम भजन से उन को मना लो 

जो कुछ चाहो शम्भु से पा लो 

वंदन कर लो जी (टेक :शंकर भज लो जी) 



4 टिप्‍पणियां:

पाठक की टिप्पणियाँ किसी भी रचनाकार के लिए पोषक तत्व के समान होती हैं ।अतः आपसे अनुरोध है कि अपनी बहुमूल्य टिप्पणियों द्वारा मेरा मार्गदर्शन करें।☝️👇